Rahguzar

by Manish Jain ‘Mauji’
Clear
-
+

Product Description

महज़ 8 साल की उम्र से लिखने की शुरुआत करने वाले मनीष जैन, एम.आई.टी.,मणिपाल से मेकैनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक है। अपना कलाम ज़ाहिर करने के लिए ये “मौजी” और “असद” तख़ल्लुस रखते है।

“हर सुबह अपने साथ क्यूँ ले आती है सहर

दिन के अपने सितम है रातें ढाती है क़हर

सुकूँ दौलत तो पहले सिक्के पर है आ जाता

क्यों तमाम उम्र’मौजी“घूमे रहा है इधर उधर”

देश के मशहूर अखबारों और मैगज़ीन्स में ये अक्सर छपते रहते है। इनकी एक और किताब ‘सुनहरी धूप’ जल्द आप के बीच होगी।इनसे मिलना बेहद आसान है। आप इनसे फेसबुक पर या इनके ब्लॉग myinnerperspective.wordpress.com पर मिल सकते है। और चाहे तो 9899576904 पर बात भी कर सकते है।

Share

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.

Front-Cover-1.png

Friendship: A bond of trust and love till eternity

by Ansh Agrawal

Friendship is the relationship least talked about and rarely expressed in the form of poetry. This book does the exact opposite. Each poem in this book talks only about friendship, it describes how beautiful and joyful this ride can be. The poems in this book define friendship in its all forms and are sure to leave the reader spellbound.

Share
Front

Tu Gair Hai Magar Yun Hi

by Mukesh Bhansali

लेखक मुकेश भंसाली मुंबई शहर से आते हैं । हिंदुजा महाविद्यालय से अपनी पढ़ाई पूरी करके मुकेश जी ने मुंबई में ही पर्यटन का व्यापर स्थापित किया जहाँ से वह लोगों को देश-विदेश की यात्रा मुहैया कराते हैं और अपने व्यापार के अनुरूप और लिखने के शौक अनुसार खुद भी कई देशों का भ्रमण करते रहते हैं । मुकेश जी को गीत, ग़ज़ल, कविता और शायरी का शौक तो शायद पिछले जन्म से ही था, और फिर कालेज के दिनों में सब यथार्थ सा लगने लगा । दिल का लगना और दिल्लगी करना, ग़ज़ल सुनना, गीत गाना, शायरी लिखना और सुनाना बाद में शौक बन गया । किसी को तस्सवुर में सजाते रहे, बाद उन ख्यालों को लिखते रहे, पता ही नहीं चला की कब सुखनवर हो गये । इनका कहना है की जो इख्तियार में ना था और जो सिर्फ तमन्ना बन कर रह गई, वो ख्याल, वो ख़लिश और वो ख्वाब जो ज़िंदगी में ना शामिल हो पाये उन्हें कागज पर दर्ज कर एक सकुन का एहसास सा महसूस होता है, हालाँकि दर्द अपनी जगह मुक्कमल रहा ! इस किताब के ज़रिये मुकेश जी ने फिर से एक बार उन सभी लम्हों और जज़्बात को अपने विचारों के गलियारों से निकाल कर एक कागज़ के टुकड़े पर रखने की कोशिश की है ।

Click this to read a sample of the book

Tu Gair Hai Magar Yun HI
Share
Front-33-scaled-1.jpg

Ulfat - Prem Ane Mitrta

by Abhishek Parmar

ULFAT’ – Love and Friendship. None of them we chose to do. They happens with us. They encounter us anytime, anywhere Wwith anyone. In love there is friendship and in friendship there is love, for sure. Feeling seperates them. The feel that we have inside of our hearts. Love can’t be defined nor it can be proven. It’s like an air. Feel it and live it. The big messy confusion occurs often in relationship is – ‘Is it love or friendship ?!’ Who decides ? The boundries of love and friendship is decided by the souls living at the ends of a relationship. In this story you will see love and friendship playing hide and seek with the characters. Don’t try to run away. Love or friendship or both will caught you once in a life for sure. ARE YOU READY !

Share
Front

Prerna

by Raksha Radhesh

आज चाहे अँधेरी रात हो तेरे ज़िन्दगी में

लेकिन कल भी हो ये ज़रूरी नहीं

खुदकी तकदीर पे विश्वास रक्

आज कराब होगा लेकिन कल नहीं

कुछ ज़िन्दगी ने सिकादी और कुछ खुद सिक्लिया| किताब “प्रेरना -सफलता केलिये ज़रूरी हे” में ५० कविताएं हे जो आपको हर मुश्किल को आसान करदेगा | ज़िन्दगी चाहे कितनी भी कटिन हो कभी हिम्मत मत हारना चाहिए| एक दिन सब कुछ तेरे हिसाबसे होगा और तू इस दुनिया पे राज करेगा | तुम ये करसकते हो येही सोचके आगे बड़ो | रस्ते में कही टोकर काकर गिर्गाये तो वही रुख मत जाना आगे बदना | एक दिन सब कुछ सही होगा और तेरेलिये होगा | तो हिम्मत रक् | एक बात याद रक् कि तेरेलिये तू काफि हे | क्यूंकि ज़िन्दगी बर हजारो लोग आयंगे और जायेंगे पर रहेंगे वही जो तेरे अपने हे | तो किसिकेलिये रोना नहीं किसिकेलिये भी अपने आप को बदलना नहीं | जो जेसा हे उसे वेसे ही रहने दे और देक केसे तेरी जिन्दीगी ख़ूबसूरत बनती हे |

Share
Front-12.jpg

A Boulevard of Hope

by Ratnadip Nath

A Boulevard of Hope’ is a collection of poems.Poems that have bit of romance,heartbreaks and a little bit of motivation within them.It’s a part of the author’s journey from being a normal person to a deep,keen observer. Become a part of this journey through his poems.

Share
Front.jpg

Echoes of Heart

by Srishti Madan

The book “ECHOES OF HEART”, is an effort to attach readers, to all those detached emotions, which we have faced at times, in our lives. It is a collection of twenty poems, dealing with various issues of life and love, the dilemmas and the hurricane of thoughts which we at many stages encounter with. Pains, unsolved confusions and illusions, I have tried to answer many via words, but then some are left unanswered, do explore and, let me know, if this echo shouts at your heart too.

Share